Shreyas Scheme 2021 In Hindi

784
0
Shreyas Scheme 2021 In Hindi

Shreyas Scheme 2021 In Hindi

Non-technical मतलब BA/B.Com/Graduation जैसी कोई अन्य डिग्री प्राप्त करने वाले छात्रों को अब नौकरी के लिए चिंता करने की जरुरत नहीं है Shreyas Scheme 2021 In Hindi में जानकारी लेने के लिए आप का स्वागत है अगर आप छात्र हैं तो अक्सर इस बात की चिंता होती होगी कि पढ़ाई पुरी करने के बाद नौकरी कैसे मिलेगी,

उच्च शिक्षा प्राप्त करने के बाद भी इन्टरव्यु में ये कह कर मना कर दिया जाता है की आपके पास अनुभव नहीं है या फिर ये कह कर इन्टरव्यु से निकाल दिया जाता है की आपके पास स्कील डेवलपमेंट नहीं है लेकिन अब छात्रों के लिए उम्मीद की एक किरण सामने आ गई है

Shreyas Scheme 2021 In Hindi

Shreyas Scheme 2021 In Hindi ये एक नया योजना है जो केन्द्र सरकार के तरफ से शुरू किया गया है श्रेयश स्कीम काफी महत्वपूर्ण छात्रों के लिए होने वाली है क्योंकि इस योजना के तहत छात्रों को कॉलेज के समय से ही 6000 रुपये की राशि मिलेगी स्टायपेंड के तौर पर साथ ही में छात्रों को प्रशिक्षण दिलाया जाएगा जिस फिल्ड में वह नौकरी करना चाहते हैं।

 

श्रेयश स्कीम के विशेषताएँ

भारत सरकार ने Shreyas Scheme 2021 In Hindi के तहत एक बड़ा और निर्णायक कदम उठाया है अब छात्रों को अपनी पढ़ाई पुरी करने के बाद अपना बायोडाटा लेकर ऑफिस दर ऑफिस भटकने की ज़रूरत नहीं है सरकार अब स्नातक की बढ़ाई के दौरान ही उस फिल्ड में प्रशिक्षण करवाएगी

जिस फिल्ड में आप नौकरी करना चाहते हैं तो आइये Shreyas Scheme के बारे में पुरी डीटेल में जानते हैं कि ये कैसे लागु होगा, इस योजना का लाभ किस तरह ले सकते हैं ,और छात्रों के लिए एक उम्मीद बन कर कैसे आएगा श्रेयश स्कीम।

क्या है श्रेयश योजना ? What Is Shreyas Scheme?

उच्च शिक्षा प्राप्त कर रहे छात्रों को बड़े से बड़ा उद्योगों में काम करने का अवसर प्राप्त होगा क्योंकि सरकार द्वारा अब Shreyas Scheme (Higher Education Youth For Aprenticeship) के तहत स्कील का प्रशिक्षण दी जाएगी,
और इस के लिए प्रशिक्षण का कोई फीस छात्रों को नहीं देनी होगी बल्कि छात्रों को प्रशिक्षण के दौरान स्टायपेंड के तौर 6000 रुपये प्रति माह के रुप में प्रोत्साहित किया जाएगा
केन्द्र के मानव संसाधन विकास मंत्री द्वारा श्रेयश योजना के पोर्टल का शुरुआत कर दिया गया है मानव संसाधन विकास मंत्री ने ये भी कहा है कि शिक्षा के मुल्य उद्देश्य एक अच्छा निर्माण है तो चिलिए जानते हैं इस योजना में अपना रजिस्ट्रेशन कैसे करवा सकते हैं ?

श्रेयश योजना Registration

रजिस्ट्रेशन करने के लिए सबसे पहले www.shereyes.ac.in पर जाकर अपना रजिस्ट्रेशन करवाना होगा रजिस्ट्रेशन करने से पहले संस्था के पंजीकरण फार्म भरना होगा जिसमें अपने राज्य का नाम, संस्था का नाम, और संस्था का इ-मेल आइडी देना होगा ,

छात्राएँ अपने मन पसंद के मुताबिक़ मीडिया, मैनेजमेंट, टेलीकॉम, और फ़ायनेंस जैसे विभिन्न प्रकार के फिल्डो का प्रशिक्षण ले सकते हैं।

एक न्यूज़ के मुताबिक़ इस योजना के तहत कौशल विकास और उद्धमीता मंत्रालय को लम सम 10 हज़ार करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया गया है ,

केंद्र सरकार का मक़सद है कि 2022 तक 50 लाख छात्रों को सक्षम बनाया जाएगा और उन्हें बेहतर रोज़गार करने का अवसर प्रदान कराया जाएगा ।

 

श्रेयश योजना का उद्देश्य

पढ़ाई के साथ साथ नौकरी पाने के लिए उसी के फिल्ड का प्रशिक्षण करने का मौका दिया जाए तो देश के युवाओं के लिए इस से बेहतर मौक़ा कोई और नहीं हो सकता है सरकार ने उच्च शिक्षा हासिल करने वाले छात्रों के लिए श्रेयश योजना की शुरुआत की है,
दर असल Shreyas का फुल फर्म है (Scheme For Higher Education Youth For Apprenticeship And Skills) श्रेयश योजना को मानव संसाधन विकास मंत्रालय और कौशल विकास और उधमीता मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय प्रशिक्षण योजना का शुरुआत किया गया है
Shreyas Scheme 2021 In Hindi के तहत इच्छुक छात्र और छात्राएँ अपने शिक्षा अनुसार उचित प्रशिक्षण की तय्यारी कर सकते हैं इस योजना के उद्देश्य है छात्रों को उनके शिक्षा के साथ साथ रुचि के अनुसार उनका प्रशिक्षण करवाना है,
ताकि देश के युवाओं पढ़ाई के दौरान ही नौकरी के लिए प्रशिक्षण की तय्यारी पुरी कर ले ताकि छात्राओं को पढ़ाई के बाद नौकरी के लिए दर दर भटकना न पड़े और सरलता से उनके रुचि अनुसार नौकरी मिल जाए।
श्रेयश स्कीम

श्रेयश स्कीम का लाभ क्या है? What Is The Objective Of Shreyas Yojana?

शिक्षा के साथ-साथ छात्रों को नौकरी पाने के लिए रुचि अनुसार प्रशिक्षण प्राप्त होगा।
पढ़ाई के दौरान ही नौकरी करने की पुरी तैयार हो जाएगी।
प्रशिक्षित और कुशल होने के बाद रोज़गार का सृजन करना भी है।
छात्रों को इच्छा अनुसार सुविधा और ट्रेनिंग दिलाया जाएगा।
Shreyas स्कीम के तहत पढ़ाई के साथ साथ कमाई भी होगी
श्रेयश स्कीम का रुप रेखा इस तरह से तैयार की गई है की छात्रों को पढ़ाई के साथ साथ कमाई भी होगी और साथ में उधोग जगत को अधिक प्रशिक्षण किया हुआ अनुभवी लोग भी मिलेंगे।

श्रेयश योजना को तीन भाग में लागु किया गया है

1 एडोन अप्रेंटिस्शिप (Ad-on Apprenticeship)
2 इंबेडेड अप्रेंटिस्शिप (Embedded Aprenticeship)
3 राष्ट्रीय कैरियर सेवाओं को कॉलेज के साथ जोड़ना (Linking National Career Service with Colleges)
 
Shreyas Scheme 2021 In Hindi  के तहत पहले कॉलेजों को रजिस्ट्रेशन कराना होगा उसके बाद युवाओं का रजिस्ट्रेशन शुरू किया जाएगा।
1 एडोन अप्रेंटिस्शिप के तहत स्नातक के एसे छात्राओं का रजिस्ट्रेशन किया जाएगा जो परिक्षा दे चुके हैं या फिर परिक्षा देने वाले हों चयनित युवाओं को इंडस्ट्री के ओर से प्रशिक्षण दिया जाएगा और साथ में प्रति माह 600 रुपये स्टायपेंड भी दिया जाएगा ट्रेनिंग ख़त्म होने पर छात्रों का परिक्षा लिया जाएगा और उनमें से सफल छात्रों को कौशल सर्टिफिकेट दिया जाएगा।
2 इंबेडेड अप्रेंटिस्शिप
इंबेडेड अप्रेंटिस्शिप के तहत BA , B.sc , B.Com के अलावा लोकेशनल कोर्सेज़ के छात्रों को प्रशिक्षण और कौशल विकास का अवसर मोहय्या कराया जाएगा इस के तहत प्रशिक्षणों को 6 महिने से 10 महिने तक का प्रशिक्षण कराया जाएगा
और वो जरुरत के हिसाब से तय किया जाएगा और इस प्रशिक्षण के दौरान भी छात्रों को 6000 रुपये का स्टायपेंड दिया जाएगा और साथ ही में प्रशिक्षण के परिक्षा में सफल होने वाले छात्रों को कौशल सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा।
Shreyas Scheme कॉलेजों युवाओं और उधोगों के बीच माध्यमों की काम करेगी युवाओं की सुचि उधोगों को दी जाएगी और वह अपने स्तर पर युवाओं को ट्रेनिंग देगा ट्रेनिंग देने के बाद ट्रेनिंग देने वाले उधोगों में भी काम करने का मौका मिलेगा या फिर वह किसी दुसरी जगह जाकर
नौकरी कर सकेंगे,
दर असल विश्व विधालय अनुदान आयोग (UGC) ने वर्ष 2022 तक का एक लक्ष्य तैयार किया है
ताकि उच्च शिक्षा प्राप्त करने वाले छात्रों में से कम से कम 50 फिसदी लोगों को सही रोज़गार मिल सके इस दिशा में श्रेयश योजना काफी महत्वपूर्ण साबित हो रहा है।
3 राष्ट्रीय कैरियर सेवाओं को कॉलेज से जोड़ना
इसके तहत श्रम और रोज़गार मंत्रालय के राष्ट्रीय कैरियर सेवाओं को उच्च शिक्षा संस्थानो के साथ जोड़ा जाएगा ये सेवा उन संस्थानों में छात्रों का मदद करेगा,
जिनके पास कैंपस भर्ती की सुवीधी नहीं रहेगी ताकि वो रोज़गार के अवसर पाने के लिए सुधार करेंगे साथ ही छात्रों को बाज़ार द्वारा Soft skill में प्रशिक्षित किया जाएगा।

  Shreyas Scheme 2021 In Hindi भारत में उच्च शिक्षा

भारतीय उच्च शिक्षा में महिला पुरुष असमानता भी एक बहुत बड़ी चुनौती है उच्च शिक्षा में महिलाओं की हिस्सेदारी लम सम 46.2% फ़ीसदी तक की है और कुल श्रम बल मे महिलाओं की हिस्सेदारी केवल 27% फ़ीसदी है ,

शुरुआती स्तरों पर रोज़गार पाने वाली में से केवल कुल 24% फ़ीसदी ही महिलाएँ होती हैं केन्द्र सरकार ने देश में उच्च शिक्षा में बढ़ोतरी के लिए कई बड़ा कदम उठाए हैं

वर्ष 2018 में भारतीय उच्च शिक्षा गठन आयोग के लिए सरकार ने एक अहम क़दम उठाया है जिसका उद्देश्य UGC अधिनियम को निरस्त करना और उच्च शिक्षा आयोग का स्थापना करना है इसके साथ ही शिक्षा की गुणवत्ता में बढ़ोतरी के साथ साथ छात्रों को मिलने वाला शिक्षा का मूल्यांकन भी जुड़ा हुआ है

जिस से पता लगाया जा सके की छात्रों ने क्या सीखा और संस्थानों द्वारा किस प्रकार से उन्हें कौशल विकास में सहयोग किया गया।

Shreyas Scheme 2021 In Hindi

इस योजना का भी लाभ लें :- प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना 

स्कील इंडिया मिशन

हमारे देश भारत में युवाओं की आबादी काफ़ी ज़्यादा है अगर इन युवाओं के पास अपना हुनर हो उनमें कौशल का विकास हो तो हमारे देश के विकास को एक नई रफ़्तार मिल सकती है,

अगर युवाओं के पास कौशल विकास होगा तो न केवल अपनी जीवन को बदल सकते हैं बल्कि दुसरो की जीवन में भी सुधार कर सकते हैं इसी उद्देश्य के साथ सरकार वर्ष 2015 में Skill India Mission की शुरुआत की गई थी

केन्द्र सरकार ने विभिन्न प्रकार के कामगारों को तैयार करने और देश के युवाओं को नया हुनर देने का प्रशिक्षण अभियान शुरू किया गया है सबसे पहले केंद्र में अलग से Kaushal Vikas और उद्धमीता मंत्रालय बनाया गया,

जिसका उद्देश्य देश के सभी कौशल विकास के पहलुओं को एक राष्ट्रीय कौशल योग्यता ढाँचें के तहत लाना था ताकि युवाओं को बेहतर आजीविका और रोज़गार प्राप्त हो

ये तब ही संभव हो सकता है जब उन के अंदर कौशल का विकास हो इन्हीं सारी चीज़ें को ध्यान में रखते हुए अलग मंत्रालय का सरकार के ओर से गठन किया गया कौशल विकास के दिशा में उठाए गए सबसे बड़ा कदम स्कील इंडिया मिशन की शुरुआत थी प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 2015 में इस मिशन को शुरुआत की थी

इस मिशन का टैग लाइन दिया गया कौशल भारत, कुशल भारत इसका मुख्य उद्देश्य ये है कि भारतीय युवाओं के प्रतिभा में विकास एंव विस्तार और कार्य छेत्रों में अवसर पैदा करना है इस मुहिम का लक्ष्य देश के युवाओं में कौशल विकास द्वारा रोज़गार का अवसर पैदा करना है ये मुहिम पुरे भारत देश में चलाइ गई है।

Skill India Scheme
Shreyas Scheme 2021 के तेजहत युवाओं में एसे कौशल विकास पर जोड़ दिया जा रहा है जिस से रोज़गार मिलने वाले युवाओं को आसानी हो या तो फिर खुद का अपना व्यवसाय शुरू कर सके परंपरागत रोज़गार से जुड़े सभी व्यवसायियों के लिए प्रशिक्षण दिया जा रहा है जैसे कि वेल्डिंग करने वाला वेल्डर, मोची, दर्जी, नर्स इत्यादि…
लोगों का नाम कौशल विकास करने में शामिल है रियल स्टेट, परिवहन, कंस्ट्रक्शन, बैंकिंग इत्यादि जैसे छात्रों में जहां कौशल का विकास पर्याप्त नहीं हुआ है वहाँ कौशल विकास पर जोड़ दिया जा रहा है।
प्रशिक्षण कार्यक्रम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कराया जा रहा है जिस से हमारे देश के युवा केवल घरेलू माँगों को पूरा नहीं करेंगे बल्कि विभिन्न प्रकार के अलग अलग देश जैसे अमेरिका, जापान, रुस जैसे अन्य देशों में जाकर भारत का पहचान बनाना है अलग अलग उम्र के लोगों के मुताबिक़ कार्यक्रम शुरु कराए गए हैं,
लोगों को सिखाने के लिए खेल समुहिक चर्चा और कई सारे नई तरीक़े अपनाए जा रहे हैं इस मुहिम को सफल बनाने के लिए सरकार बहुत सारी योजनाओं पर काम कर रही है
स्कील इंडिया का ये मिशन है कि आने वाले चार वर्ष में एक करोड़ युवाओं को मुफ़्त कौशल प्रशिक्षण देना है इस के तहत दो महीने से लेकर छह महीने तक का अल्पकालिक प्रशिक्षण देना है स्कील इंडिया के तहत देश के हर ज़िले में कौशल केंद्र खोलने की व्यवस्था दी गई है
Skill India Mission  के तहत सरकार का मक़सद है 2022 तक 40 करोड़ युवाओं को प्रशिक्षण देना है ताकि युवाओं को नौकरी आसानी से मिल सके या फिर अपना रोज़गार खोल सके।