Vehicle Scrap Policy: गाड़ी फ़िटनेस टेस्ट नहीं करवाने पर रजिस्ट्रेशन होगा रद्द

1027
0
स्क्रैपेज पालिसी

Vehicle Scrap Policy: गाड़ी फ़िटनेस टेस्ट नहीं करवाने पर रजिस्ट्रेशन होगा रद्द

Vehicle Scrap Policy से भारतवासियों को ख़ास कर के वाहन मालिकों के लिए एक ख़ुशख़बरी है स्क्रैप पॉलिसी के तहत कोई भी गाड़ी 15 से 20 वर्ष पुरानी हो चुकी है तो गाड़ी की फ़िटनेस टेस्टिंग कराना अनिवार्य होगा फ़िटनेस टेस्ट नहीं करवाने पर गाड़ी का रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिया जाएगा

फिर वाहन मालिक अपनी गाड़ी रोड पर नहीं उतार सकेंगे Scrap Policy का लाभ ये है की अगर वाहन मालिक पुरानी गाड़ी को स्क्रैप पॉलिसी के तहत फ़िटनेस टेस्ट कराते हैं

और उस में फिट हो जाते हैं तो नई गाड़ी ख़रीदने पर उनको स्क्रैप रेट के हिसाब से नई गाड़ी में 5% तक का छुट दिया जाएगा साथ में नई गाड़ी की रजिस्ट्रेशन भी बिलकुल मुफ़्त कराया जायेगा और रोड टैक्स में भी छुट मिलेगा

सरकार का दावा है की Scrappage Policy को शुरी करने से कबाड़ा गाड़ी पर प्रतिबंध लग जाएगा जिस से देश में प्रदूषण की कमी आएगी और रोड पर हो रहे एक्सीडेंट्स में भी कमी आएगा और बहुत सारे फ़ायदे हैं जो आप नीचे के लेख के माध्यम से जान सकते हैं।

Vehicle Scrap Policy

What Is Scrappage Police

स्क्रैप पॉलिसी क्या है भारत सरकार ने एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस के माध्यम से वाहन मालिकों के लिए Vehicle Scrap Policy लेकर आई है स्क्रैप पॉलिसी को लेकर भारत में काफी दिनों से चर्चा हो रही थी लेकिन भारत सरकार आखिरकार व्हीकल स्क्रैप पॉलिसी को लॉंच कर ही दिया इस पॉलिसी के तहते

जिनकी गाड़ी स्क्रैप (कबाड़ा) हो चुकी है उनके लिए सरकार लम सम चार से पाँच सौ तक के Automated fitness centre बना रही है

जिस से वाहन मालिक अपने वाहन की फ़िटनेस टेस्टिंग करा सकते हैं अगर उस टेस्ट में गाड़ी पास हो जाती है तो ऑटोमेटेड फ़िटनेस सेंटर द्वारा वाहन मालिक को ऑटो फ़िटनेस का स्क्रैप पेपर (Certificate) दिया जाएगा

जिसके तहत गाड़ी मालिक को नई गाड़ी ख़रीदने पर किसी भी ऑटो मोबाइल सेंटर में 5% प्रतिशत तक छुट दी जाएगी और साथ में गाड़ी की रजिस्ट्रेशन भी मुफ़्त में होगा।

Scrap Policy 2021 In Hindi

लोकसभा में सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी द्वारा एलान किया गया है की Scrappage Policy 2021 में लागू होने से न केवल देश प्रदूषण मुक्त होगा

साथ में लोग सड़क दुर्घटना से भी बचेंगे उन्होंने कहा के हमारे ओर से सारे ऑटो कंपनी के मालिक को ये सलाह दे दिया गया है के पुराने गाड़ी को स्क्रैप करने के बाद वाहन मालिक को स्क्रैप सर्टिफिकेट दिया जाएगा

जिस से वो सर्टिफिकेट दिखा कर ऑटो कंपनी से 5% कम रेट में नई वाहन ख़रीद सकते हैं और गाड़ी की रजिस्ट्रेशन बिल्कुल मुफ़्त में करा सकते हैं Vehicle Scrap Policy के तहत

निजी नई व्हीकल ख़रीदने पर लाभार्थी को 25% तक का रोड टेक्स में भी छुट दिया जाएगा वहीं कमर्शियल गाड़ी ख़रीदने पर 15 % तक रोड टेक्स में छुट दिया जाएगा

इस योजना का भी फैयदा लें :- दिल्ली ड्राइवर योजना के तहत रु 5000 का सहायता

पुरानी व्हीकल फ़िटनेस टेस्ट फेल होने पर क्या होगा

वाहन स्क्रैप पॉलिसी के मुताबिक़ अगर कमर्शियल गाड़ी की फिटनेस सर्टिफिकेट नहीं मिलती है तो वो गाड़ी रद्दी के भाव में हो जाएगी एसी गाड़ी को रोड पर चलने की अनुमति नहीं दी जाएगी और पुरानी गाड़ी की रजिस्ट्रेशन रद्द कर दी जाएगी

नई स्क्रैप पॉलिसी के तहत गाड़ी की फिटनेस टेस्ट में फेल होने पर वाहन को डी-रजिस्ट्रेशन कराने का प्रबंधन किया गया है लेकिन 15 वर्ष से अधिक पुरानी गाड़ी की फिटनेस टेस्ट कराने का अधिक फ़ीस भरना पड़ेगा।

Scrappage Policy India – Benefits

गुजरात के गांधी मैदान इन्वेसटर सिमिट के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी एलान किया था की व्हीकल पॉलिसी इंडिया में नील का पत्थर साबित होगा

स्क्रैप पॉलिसी के तहत भारत को प्रदूषण से मुक्त होने में गति आएगी और भारतवासी को सड़क दुर्घटना से भी काफी हद तक छुटकारा मिल सकेगा

इतना ही नहीं उन्होंने संबोधित करते हुए कहा की Vehicle Scrap Policy India में लागु हो जाने के बाद लोग कम से कम कीमतो पर अपनी वाहन खरीद सकेंगे

उसके साथ में अपनी नई गाड़ी को रजिस्ट्रेशन भी मुफ़्त करवा सकेंगे और प्रधानमंत्री ने कहा की इस से देश के अर्थ व्यवस्था में भी कम से कम 10000 करोड़ रुपये का लाभ मिल सकेगा।

प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना 

स्क्रैप पालिसी का उद्देश्य किया है 

पुरानी गाड़ी से देश में हो रहे सड़क दुरघर्टना तथा पुरानी गाड़ी से प्रदूषण का ज्यादा फैलने से लोगो को काफी नुकसानों का सामना करना पड़ रहा था प्रदूषण ज्यादा फैलने से

विभिन्न प्रकार की बीमारी का फैलना देश में एक चुनौती का कारण बना हुआ था इस लिए Vehicle Scrappage Policy को शुरू क्या गया है

स्क्रैपिंग पालिसी का उद्देश्य है की स्क्रैप पालिसी शुरू होने से देश के अर्थ व्यवस्था में काफी सुधर होगा और ऑटो सेक्टर में नयी गाड़ी कि बिक्री बढ़ेगी इतना ही नहीं पुरानी गाड़ी स्क्रैप होने से देश में इलेक्ट्रिक व्हीकल खरीदारी में भी वृद्धि होगा 

सरकार ने दावा किया है की इस पालिसी से लोगो को काफी मुनाफा होगा जिनकी गाड़ी 15 से 20 वर्ष पुरानी हो चुकी है उसको स्क्रैप करने से पहले

Authorise Vehicle Testing Centre पर चेक किया जायेगा अगर वो गाड़ी 20 वर्ष बाद भी अच्छे कंडीशन में रहती है तो उसको स्क्रैप नहीं किया जायेगा

अच्छे कंडीशन वाली गाड़ी को फिर से रजिस्ट्रेशन करने कि अनुमति दे दी जाएगी अगर जिसकी गाड़ी टेस्टिंग सेंटर द्वारा फ़ैल कर दियाजाता है तो उस गाड़ी को स्क्रैप कर दिया जायेगा

और गाड़ी मालिक को स्क्रैप सर्टिफिकेट दे दिया जायेगा जिस से कम से कम कीमतों पर नई गाड़ी खरीद सकते हैं साथ ही उनको नई गाड़ी की रजिस्ट्रेशन मुफ्त में होगा और रोड टेक्स में भी छूट मिलेगा 

Vehicle Scrap Policy

देश में व्हीकल स्क्रैपेज पालिसी क्यों जरुरी है 

ध्यान रहे की Scrappage Policy के बारे में UPSC या किसी अन्य परीक्षाओं में भी पूछा जा सकता है इसलिए Scrappage Policy Details में समझने की आवश्यकता है

इस पालिसी के तहत भारत के ऑटो सेक्टर में गाड़ियों कि बिक्री बढ़ेगी पुरानी  गाड़ी से सड़क पर दुर्घटना का सम्भावना जियादा रहता है

उसमें भी लम सैम 15 % प्रतिशत तक कमी आ सकती है देश में अर्थ व्यवस्था में भी बूस्ट मिलेगा हमारा भारत मज़बूत बनेगा क्यूंकि जब पुरानी गाड़ी को स्क्रैप किया जायेगा

तो लोगो के अंदर नयी गाड़ी खरीदने कि चाह बढ़ेगी और देश के लाखों लोग नयी गाड़ी खरीदेंगे तो देश का इकॉनमी मज़बूत होगा 

इतना ही नहीं Vehicle Scrap Policy लागू होने के बाद डीज़ल पेट्रोल का खपत भी कम हो जायेगा क्युकी पुरानी गाड़ी स्क्रैप होने के बाद लोग नयी गाड़ी खरीदेंगे हो सकता है

लाखों लोग इलेक्ट्रिक व्हीकल ज्यादा खरीदेंगे जिस से देश में प्रदूषण में भी कमी आएगी

इलेक्ट्रिक गाड़ी खरीदने पर भी किसी दूसरे पालिसी के तहत डिस्काउंट दिया गया है उसका भी लाभ उठा सकते हैं। 

स्क्रैप पालिसी लागू होने से ये भी फ़ायदा है की स्क्रैप की गई गाड़ी से सस्ता और कच्चा माल मिलेगा और उस मटेरियल से कम से कम कीमतों पर गाड़ियों की मैन्युफैक्चरिंग होगी जिसके तहत मार्किट में गाड़ी भी सस्ते दामों में मिलेगा 

व्हीकल स्क्रैप पालिसी को लागू होने से ल्म सम ४ करोड़ लोगो को रोजगार करने का अवसर मिलेगा उसके साथ में ऑटो सेक्टर में 10 करोड़ का निवेश भी बढ़ेगा। 

 Scrappage Policy Announcement Date – स्क्रैपेज पालिसी कब से लागु होगा

फिटनेस टेस्ट स्क्रैपिंग सेंटर के नियम 1 अप्रैल 2021 से लागु कर दिए जायेंगे और 1 अप्रैल 2022 से 15 वर्ष से अधिक पुरानी गाड़ी को स्क्रैप करना शुरू हो जायेगा और 1 अप्रैल 2023 से 15 से 20 वर्ष पुरानी गाड़ियों पर वैज्ञानिक तौर पर गाड़ी कि फिटनेस टेस्ट करना अनिवार्य कर दिया

जायेगा फिर 1 जून 2024 से सभी श्रेणियों के गाड़ियों के ऊपर फिटनेस टेस्ट चरणबद्ध तरीके से अनिवार्य कर दिया जायेगा। 

इस स्कीम का भी फैयदा उठायें :- DDA हाउसिंग स्कीम के तहत दिल्ली सरकार कम कीमतों पर फ्लैट दे रही है  

New Scrap Policy In India 

मीडिया से बात करते हुए भारत के परिवहन मंत्री नितिन गडकड़ी ने कहा है की नई स्क्रैपिंग पालिसी लागू होने से लोगो कि सुरक्षा की दुर्ष्टि से और पुरानी गाड़ी में ज्यादा पेट्रोल डीज़ल का खपत होने से लोगो को मुक्ति मिलेगी

उन्होंने ने कहा है की पुरानी गाड़ी को स्क्रैप करने से उन में से निकलने वाली रोमटेरिअल को Recycling करने के बाद

नई गाड़ी को मैन्युफैक्चरिंग करने में कम से कम खर्च होंगे जिसके तहत नई गाड़ी सस्ते दामों में मार्किट में आएगी और लोगों को गाड़ी खरीदने में आसानी होगा और ज्यादा से ज्यादा लोग गाड़ी खरीद सकेंगे

 उन्होंने ने ये भी कहा है की स्क्रैपिंग पालिसी इंडिया में लागू होने से लोगो को लाभ होगा ही साथ में राज्य सरकार और केंद्र सरकार दोनों को नई स्क्रैप पालिसी का फ़ायदा होगा

क्यूंकि पुरानी गाड़ी स्क्रैप करने के बादकरोड़ो लोग नयी गाड़ी खरीदेंगे जिसके तहत राज्य एवं केंद्र सरकार को अधिक GST मिलेगा।   

टेबल 

स्कीम का नाम  Scrap Policy Scheme 
स्क्रैप पालिसी कब से लागु होगा  1 अक्टूबर 2021 
व्हीकल स्क्रैप पालिसी का उद्देश्य किया है  कबाड़ गाड़ियों को स्क्रैप कर के उसके रौ मटेरियल से देश के अर्थ व्यवस्था को मज़बूत करना तथा देश को प्रदूषण मुक्त बनाना 
आम लोगो को किया लाभ होगा  सड़क दुर्घटना से बचेंगे नई गाड़ी खरीदने पर 5 % तक डिस्काउंट मिलेगा और पुरानी गाड़ी से फ़ैल रहा प्रदूषण से मुक्ति मिलेगी 
Scrappage Policy Official Website  https://pib.gov.in/
ये पालिसी किसके द्वारा शुरू किया गया है  प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी 
Scrappage Policy Latest Update  पुरे आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पढ़ें 

कमर्शियल वाहन और निजि वाहनों के लिए नियम किया है 

स्क्रैप पालिसी न्यूज़ के मुताबिक बताया गया है की कमर्शियल वाहनों को वज्ञानिक तौर पर ऑथोराइज फिटनेस टेस्टिंग के आधार पर स्क्रैप किया जायेगा और निजी वाहनों को वाहनों की नई रजिस्ट्रेशन नहीं करने पर स्क्रैप किया जायेगा

स्क्रैपिंग करने के बाद वाहन मालिक को स्क्रेप्पिंग सर्टिफिकेट सौपा जायेगा जिसके आधार पर वाहन मालिकों को नई कार कार खरीदने में सुविधा मिलेगा और विभिन्न प्रकार का छूट भी दिया जायेगा। 

Scrappage Policy 2021 PDF 

स्क्रैप पालिसी पालिसी के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने  के लिए scrap policy official Website पर जाकर देख सकते हैं आप चाहे तो scrap policy PDF में भी डाउनलोड कर सकते हैं। 

स्क्रैप (कबाड़) कर दी गई गाड़ियों को किस काम में उपयोग किया जायेगा 

Vehicle Scrap Policy के तहत जो गाड़ी फिटनेस सेंटर में फिट नहीं होती है उसको स्क्रैप करके कबाड़ बना दिया जायेगा फिर उसमें से निकलने वाले प्लास्टिक , मेटल , लोहा , एल्युमीनियम , आदि जो भी तत्व गाड़ी में लगी होती है सबको निकाल कर  Recycling कर के नई गाड़ी के मैन्युफैक्चरिंग में लगाया जायेगा  

दोस्तों गाड़ी में लगने वाले सारे तत्व भारत दूसरे देशो से इंपोर्ट करता है फिर हमारे देश में नयी गाड़ियों की मैन्युफैक्चरिंग किया जाता है जिसके चलते भारत में गाड़ी की कीमतों में दिनबदिन वृद्धि होती जा रही है अगर भारत दूसरे देश से गाड़ी में लगने वाले तत्व को इम्पोर्ट न करके

अपने ही देश की पुरानी गाड़ियों को स्क्रैपिंग करके उन तत्व को नई गाड़ी के मैन्युफैक्चरिंग करने में लगाया जाये तो कम से कम कीमतों में नई वाहन तैयार हो सकती है

इसका लाभ ये होगा की जब कम कीमतों में गाड़ी मैन्युफैक्चरिंग होगी तो उसी हिसाब से कम कीमतों पर गाड़ी ऑटो मोबाइल सेक्टर में आएगा फिर लोगों को सस्ते में अपने नई गाड़ी भी खरीद सकते हैं ।