Suami Vivekananda Etihasik Paryatan Yojana

699
0
Suami Vivekananda Etihasik Paryatan Yojana

Suami Vivekananda Etihasik Paryatan Yojana

उत्तर प्रदेश सरकार ने 2021 के पहले महीना में Suami Vivekananda Etihasik Paryatan Yojana से उत्तर प्रदेश वासियों को स्वागत किया है

और सरकार स्वामी विवेकानंद इतिहासिक पर्यटन योजना के तेहत श्रमिकों को 12000 रुपये की राशि सीधे बैंक खाते में डाल रही है ताकि स्वामी विवेकानंद इतिहासिक पर्यटन योजना के

तेहत उत्तर प्रदेश वासी धार्मिक स्थल का यात्रा आसानी से पुरी कर सके इस योजना का लाभ लेने के लिए प्रदेश के कुछ श्रमिकों को चिह्नित किया गया है

चिह्नित किया हुआ श्रमिक ही केवल इस योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं जैसे गरीब और मज़दूर कारख़ाना या कार्यशालाओं में काम करने वाला मज़दूर और

जिनका नाम उत्तर प्रदेश मज़दूर वेलफ़ेयर बोर्ड के साथ पंजीकृत होगा वही लोग स्वामी विवेकानंद इतिहासिक पर्यटन योजना का लाभ ले सकेंगे।

अगर आप भी इच्छुक हैं धार्मिक स्थल यात्रा करने के लिए तो निचे के लेख के माध्यम से आप भी आवेदन करने के लिए तैयार हो जाएँ क्यूँकि राज्य सरकार ने Suami Vivekananda Etihasik Paryatan Yojana के अंतर्गत आवेदन करने का अवधि का एलान कर दिया गया है,

मुख्यमंत्री योगी अदित्य नाथ ने आवेदन प्रक्रिया 24 जनवरी 2021 से शुरु करने का एलान कर दिया है तो आइए जान लेते है इस योजना का पात्रता कौन होगा और किन किन दस्तावेज़ों का आवश्यकता पड़ेगा।

Suami Vivekananda Etihasik Paryatan Yojana

 

Suami Vivekananda Etihasik Paryatan Yojana का उद्देश्य

स्वामी विवेकानंद इतिहासिक पर्यटन योजना का उद्देश्य यह है कि उत्तर प्रदेश के श्रमिक धर्म स्थल का यात्रा करके अपने मन को शांत करे और अच्छाई बुराई से दुर रह कर अपने धर्म के दिशा निर्देश पर चले ,

ताक़ि उत्तर प्रदेश सुख शांति का एक मिसाल बन सके और राज्य सरकार का उद्देश्य ये भी है कि उत्तर प्रदेश के श्रमिक जो गरीब और मजदुर है वह पैसे के कारण

धर्म स्थल का यात्रा नहीं कर पाते हैं इस लिए राज्य सरकार गरीब श्रमिकों को साहायता के रुप में 12000 रुपये का राशि देने का फ़ैसला लिया है

ताकि उस राशि से धर्म स्थल का यात्रा कर सके इतना ही नहीं Suami Vivekananda Etihasik Paryatan Yojana के तेहत Uttar Pradesh Labour Welfare Board ने कुछ धार्मिक स्थल के नामों का उल्लेख भी किया गया जहां पर श्रमिकों को यात्रा करने की अनुमति दी जाएगी।

इस योजना का भी लाभ लें:- गंभीर बीमारी सहायता योजना 

स्वामी विवेकानंद इतिहासिक पर्यटन योजना के पात्रता

स्वामी विवेकानंद इतिहासिक पर्यटन योजना के तहत 12000 हज़ार रुपये का लाभ लेने के लिए श्रमिकों को पंजीकरण फार्म को भरना होगा।
केवल उत्तर प्रदेश के श्रमिक ही इस योजना का लाभ ले सकते हैं।
राज्य सरकार द्वारा चिह्नित लोग ही इस योजना का लाभ ले सकते हैं जैसे गरीब,मज़दूर,या फिर कोई कारख़ाना या कार्यशाला के तहत नियोजित होना चाहिए।
लाभार्थी उत्तर प्रदेश के लेबर वेलफ़ेयर बोर्ड से पंजीकृत होना चाहिए।
स्वामी विवेकानंद इतिहासिक पर्यटन योजना के आवेदन प्रक्रिया उत्तर प्रदेश राज्य स्थापना दिवस 24 जनवरी 2021 से शुरु है।

हाइलाइट स्वामी विवेकानंद इतिहासिक पर्यटन योजना

योजना का नाम स्वामी विवेकानंद इतिहासिक पर्यटन योजना
राज्य उत्तर प्रदेश
आवेदन आरम्भ तिथि 24 जनवरी 2021
योजना शुरू किया गया मुख्यमंत्री योगी अदित्य नाथ द्वारा
लाभार्थी उत्तर प्रदेश के श्रमिक
उद्देश्य उत्तर प्रदेश के श्रमिकों को धार्मिक स्थल का यात्रा कराना
आवेदन प्रक्रिया ऑफ़लाइन
आवेदन फार्म अधिकारिक वेबसाइट से डाउनलोड करें
अधिकारिक वेबसाइट यहाँ पर क्लिक करें

योजना के तहत धार्मिक स्थल का नाम

Uttar Pradesh Labour Welfare Board ने निचे दिये गये स्थानों पर यात्रा करने की अनुमति दी है जहां पर आप अपने धार्मिक स्थलों का यात्रा कर सकते हैं।
प्रयागराज
मथुरा
गोरखपुर
हस्तिनापुर मेरठ
वाराणसी
आयोध्या
शांकुंभरी देवी मंदिर और विंध्यवासिनी देवी मंदिर
ये भी पढ़ें :- Voter I’d Card Online Apply

Suami Vivekananda Etihasik Paryatan योजना का लाभ

इस योजना के तहत उत्तर प्रदेश के श्रमिक धार्मिक स्थल का यात्रा सरकार द्वारा दिए गए राशि से आसानी से कर सकते हैं।
धार्मिक स्थल पर जाकर लाभार्थी अपने मनोकामना पूर्ण रुप से पुरा करेंगे
लाभार्थी के अंदर 2021 के नव वर्ष पर अपने धार्मिक पवित्र स्थलों पर जाने से उनके अंदर एक नया उत्साह पैदा होगा।
स्वामी विवेकानंद इतिहासिक पर्यटन योजना के तहत 12000 रुपये का राशि लाभार्थी के सीधे बैंक खाता में डाला जाएगा।

स्वामी विवेकानंद इतिहासिक पर्यटन योजना के आवेदन करने के लिए दस्तावेज

निवासीय प्रमाण पत्र
आधार कार्ड
राशन कार्ड
ID कार्ड
पासपोर्ट साइज़ के फ़ोटो
फ़ोन नंबर

ऑनलाइन PDF फार्म स्वामी विवेकानंद इतिहासिक पर्यटन योजना

स्वामी विवेकानंद इतिहासिक पर्यटन योजना ऑनलाइन फार्म डाउनलोड करने के लिए आपको सबसे पहले सरकारी वेबसाइट uplabour.gov.in पर जाना होगा
उसके बाद जैसे ही सरकारी वेबसाइट के होम पेज पर जाएँगे आपके सामने more का ऑप्शन दिखाई देगा आपको उस पर क्लिक कर देना है।
More पर क्लिक करने के बाद आपके सामने Suami Vivekananda Etihasik Paryatan Yojana Form Download का ऑप्शन मिलेगा उस पर क्लिक कर देना है।
क्लिक करने के बाद आपके सामने आवेदन फार्म दिखाई देगा उस फार्म को डाउनलोड कर लेना या फिर वहीं से प्रिंट निकाल लेना है।
आवेदन फार्म में निम्नलिखित अनुसार फार्म को अच्छे से भरना होगा जैसे नाम,पिता का नाम,जन्म तिथि,लिंग इत्यादि ये सारी चीज़ें आवेदक को भरना होगा।
फार्म भरने के बाद फार्म के साथ मांगे गए दस्तावेज़ों को लेकर श्रम विभाग के कार्यालय में जमा करा सकते हैं इस तरह से आवेदन प्रक्रिया पुरी की जा सकती है।

निर्देश

हम उम्मीद करते हैं स्वामी विवेकानंद इतिहासिक पर्यटन योजना के बारे में दिये गए जानकारी आप लोगों को अच्छे से समझ मे आ गया होगा और हम पुरी कोशिश करते हैं कि कोई नया अपडेट अपने देश या राज्य में आए तो सबसे पहले आप तक पहुँचे

अगर इस योजना के अंतर्गत हम ने पुरी जानकारी देने की कोशिश किया है फिर भी अगर आपके मन में कोई सवाल है तो नीचे के कमेंट बॉक्स में जाकर सवाल पुछ सकते हैं में पुरी कोशिश करुँगा आपके सवालों का जावाब देने का।